कोरोना से थर्राती दुनिया!

कुदरती कहर कोरोना पूरी दुनियां को अपनी आगोश की जद में धीरे धीरे जकड़ रही है। इस बीमारी पर दुनिया के डाक्टरों को असफलता ही हाथ लग रही है। डाक्टरों के पास कोरोना वायरस का सफल इलाज नहीं है। जिस के कारण दुनिया इस बीमारी से थर्रा रही है।

कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया में दहशत का माहौल बना दिया है। लोग पार्टी, सेमिनार और सार्वजनिक स्थलों पर जाने से परहेज करने लगे है भीड़ से दूरियां बना रहे है। घर से बाहर निकलते समय मुख पर मास्क लगा रहे है। ताकि वो इस कोरोना वायरस से महफूज रह सकें।

डाक्टरों का सुझाव है कि इस वायरस से बचने के लिए सबसे पहले सफाई जरूरी है। दिन में कई बार अपने हाथो की धुले, बाजार में खुले बिक रहे सामग्रियों का सेवन न करें। भीड़ से बचें एहतियातन किसी से हाथ न मिलाएं। और घर से बाहर निकलते समय मास्क लगा कर है निकले।

इस वायरस का प्रकोप की शुरुआत चाइना से हुआ और देखते देखते पूरी दुनिया में फ़ैल गया। हालाकि इस बीमारी से मारने वालों की ज्यादा संख्या भी चाइना से ही है। इस बीमारी कि जद में आए व्यक्ति को अलग जगहों पर रख कर इलाज किया जा रहा है।

इस बीमारी के मुख्य लक्षण सर्दी जुखाम खांसी और तेज बुखार है। यह बीमारी सामान्य खांसी जुखाम बुखार से अलग है। यह बीमारी आस पास पड़ोस के लोगों में तेजी से फैलता है। इसलिए डॉक्टरों का सलाह है कि क्रोना वायरस से पीड़ित से दूरी बनाकर रहे।

सर्दी जुखाम खांसी बुखार होने का मतलब यह नहीं है कि आपको क्रोना हुआ है लेकिन एहतियातन इसकी जांच अवश्य करा लें और उसके लिए उपयुक्त दवाएं चलाएं जिससे यह बीमारी जल्द से जल्द ठीक हो जाए।

Mdi Hindiसे जुड़े अन्य ख़बर लगातार प्राप्त करने के लिए हमेंfacebookपर like औरtwitterपर फॉलो करें.

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x