शाहीन बाग में फायरिंग करने वाले आरोपी के पिता बोले : अमित शाह और नरेंद्र मोदी का सेवक है मेरा बेटा।

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को खुलासा करते कहा कि शाहीन बाग में जिस आरोपी ने फायरिंग की थी वो आम आदमी पार्टी से जुड़ा हुआ है पार्टी का कार्यकर्ता है और उसके लिए प्रचार-प्रसार करता है।

दिल्ली पुलिस के इस दावे को आरोपी के परिजनों ने सिरे से खारिज कर दिया है। आरोपी कपिल गुर्जर के पिता ने कहा है की मेरा बेटा भारतीय जनता पार्टी का समर्थक है और अमित शाह नरेंद्र मोदी का सेवक है। वह हमेशा हिंदुस्तान और हिंदुओं की बात करता है।

न्यूज़ एजेंसी ए०एन०आई० (ANI) से बात करते हुए कपिल गुर्जर के पिता ने यह बात कही।
उन्होंने बताया कि मेरे बेटे का राजनीति से कोई लेना-देना नहीं है।

वह शाहीन बाग के रास्ते बंद होने से काफी चिंतित था। जिस शाहीन बाग के रास्ते वह 1 घंटे में अपनी ऑफिस पहुंच जाता था। अब शाहीन बाग के रास्ते बंद हो जाने के कारण वह अपने ऑफिस 3 घंटे में पहुंचता है.

जिसको लेकर वह काफी परेशान था। उसने ऐसा कदम क्यों उठाया यह मेरी समझ से परे है आरोपी के पिता के इन बातों से स्पष्ट होता है कि उनका बेटा कपिल गुर्जर दक्षिणपंथी राष्ट्रवादी विचारधारा से संलिप्त है।

हालांकि वह इस बात से भले ही इंकार कर रहो हो लेकिन उनकी शब्द शैली दक्षिणपंथी राष्ट्रवादी विचारधारा की तरफ इशारा कर रही है।

उन्होंने स्पष्ट शब्दों में कहा है कि उनका बेटा हिंदुस्तान और हिंदुत्व की बात करता है।
कपिल गुर्जर को जब शाहीन बाग से फायरिंग के बाद पुलिस गिरफ्तार कर रही थी। तो वह जय श्रीराम के नारे लगा रहा था। और कह रहा था कि यह हिंदुस्तान सिर्फ हिंदुओं का है और यहां सिर्फ हिंदुओं की ही चलेगी।

उसकी मानसिकता को समझना बहुत आसान था। राष्ट्रवाद के नाम पर जो केंद्रीय पार्टी द्वारा जहर घोला गया है। यह उसका ही असर था। शाहीन बाग पर किया गया फायरिंग कोई संयोग नहीं था यह एक प्रयोग था।

आम आदमी पार्टी के साथ तस्वीरों को लेकर उन्होंने कहा कि प्रचार के दौरान आम आदमी पार्टी के नेता आकर जबरन उसे टोपी पहना दिए थे। और तस्वीरें ली थी। आम आदमी पार्टी से मेरे बेटे का कोई लेना देना नहीं है।

Mdi Hindi से जुड़े अन्य ख़बर लगातार प्राप्त करने के लिए हमें facebook पर like और twitter पर फॉलो करें.

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x