नफरत की सियासत से उन्हें सत्ता मिली और आपको…?

किसी घर, समाज या किसी देश की तरक्की रोकनी है तो वहां के लोगों को आपस में लड़ा दो। चंद दिनों में घर, दो-चार महीनों में समाज और कुछ वर्षो में देश अपने आप बर्बाद हो जाएगा।

लड़ने झगड़ने वाले परिवारों की तरक्की से आप अनजान नहीं होंगे, उन समाजों का कितना विकास हुआ? जिनके लोगों का आपस में मतभेद हैं, बताने की जरूरत नहीं है। नफरत की राजनीत, धार्मिक कट्टरता के कारण श्रीलंका किस तरह बर्बाद हुआ पूरी दुनिया के सामने है।

आज के भारत में जिस प्रकार के धार्मिक नफरत की आंधी चल रही है इससे एक बात तो तय है कि आनेवाला कल सुनहरा नहीं होगा जिन सरकारों को हम लोक कल्याणकारी समझ रहे है वह जानता के हितकारी नहीं है।

अगर सरकार का जनता से दोस्ताना स्नेह होता तो अच्छे दिनों का वादा कर, सत्ता में लौटने के बाद भारत के लोगों को इतना बुरा दिन नहीं देखना पड़ता। आज देश महंगाई के उच्चतम तापमान पर है।

महंगाई से झुलस रहे देश के ऊपर अल्पसंख्यकों से नफरत और धार्मिक कट्टरता का साया है जिसके कारण लोगों को दैनिक जरूरतों के सामानों की आसमान छूती कीमतों का अंदाजा नहीं हो रहा है लेकिन जब यह साया लोगों के आंखो से ओझल होगा स्थिति बेकाबू हो जायेगी।

केंद्र के साथ अधिकांश राज्यों पर सत्ताधीश पार्टी मंदिर – मस्जिद पर तुच्छ राजनीत कर लोगों को गुमराह कर रही है। नौकरियां, उद्योग, शिक्षा सब बर्बादी के कगार पर है। वो नफरत की राजनीत कर सत्ता में आए पर आपको क्या मिला? इसपर विचार जरूर करिएगा।

Mdi Hindi से जुड़े अन्य ख़बर लगातार प्राप्त करने के लिए हमें Facebook पर like और Twitter पर फॉलो करें.

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x